बिहार में सरकार की नई योजना, अधूरे आवासों को पूरा करने के लिए सरकार दे रही 50 हजार

राज्यब्यूरो,पटना:राज्यकेअधूरेपड़ेइंदिराआवासोंकानिर्माणपूराकरनेकेलिएराज्यसरकारलाभार्थियोंको50-50हजाररुपयेदेरहीहै।यहजानकरीसोमवारकोविधानपरिषदमेंराधाचरणसाहऔररामचन्द्रपूर्वेकेतारांकितप्रश्नकाजवाबदेतेहुए ग्रामीणविकासमंत्रीश्रवणकुमारनेदी।

बनाईहैनईयोजना

ग्रामीणविकासमंत्रीश्रवणकुमार नेकहाकिअधूरेपड़ेपुरानेइंदिराआवासयोजनाकेतहतबनेमकानोंकोदुरुस्तयापूराकरनेकेलिएबिहारसरकारनेनईयोजनाबनाईहै।2010केपहलेकेऐसेआवासोंकीमरम्मतिकेलिएसरकार50हजाररुपयेदिएजातेथे,येराशिअबफिरदीजाएगी।

169लाभुकोंकोदीगईपहलीकिस्त

मंत्रीनेकहाकिवर्ष2016-17मेंइंदिराआवासयोजनाकोपुनर्गठितकरदियागया।अबगरीबोंकेघरपीएमआवासयोजना(ग्रामीण)सेबनतेहैं।केन्द्रकेनिर्देशकेअनुसारअबनएआवासकोमंजूरीनहींजातीहै।सरकारसिर्फउन्हींयोजनाओंकोपूराकरेगी,जिनकीपहलीकिस्तजारीहोगईहै।2012-13से2015-16तकपुरानीयोजनाकेतहत19लाखतीनहजार836आवासमंजूरकिएगए।18लाखतीनहजार169लाभुकोंकोपहलीकिस्तकीराशिदीगई।इनमकानोंमें13लाख67हजार542कोपूराकरलियागया।लिहाजापहलीकिस्तपानेवालेचारलाख35हजार627लाभुककेअपूर्णमकानकोपूराकियाजाएगा।

योजनामेंलाभार्थीकोखुदहीबनानाहोताहैमकान

श्रवणकुमारनेकहाकियोजनामेंलाभार्थीकोखुदहीमकानबनानाहोताहै।तयस्तरतकमकानकार्यपूराहोनेकेबादलाभुककोअगलीकिस्तकीराशिदीजातीहै।योजनाकीनिगरानीकेलिएऔरलाभुकोंकोमकानबनानेकेलिएउत्साहितकरनेकोपंचायतस्तरपरग्रामीणआवाससहायकऔरप्रखंडस्तरपरग्रामीणआवासपर्यवेक्षकसंविदापरबहालकिएगएहैं।