Allahabad High Court: तीन साल की मासूम से हैवानियत पर 62 वर्षीय व्यक्ति को जमानत देने से इन्कार

प्रयागराज,विधिसंवाददाता।इलाहाबादहाईकोर्टनेतीनसालकीबच्चीसेदुष्कर्मकरनेकेआरोपित62वर्षीयव्यक्तिकोजमानतदेनेसेइन्कारकरदियाहै।हाईकोर्टनेकहाकिइसशख्सपर3सालकीबच्चीकेसाथदुष्कर्मजैसाअमानवीयकृत्यकरनेकाआरोपहै।इसेजेलसेकतईरिहानहींकियाजासकताहै।

ऐसाजघन्यअपराधकरनेवालाजमानतकाहकदारनहीं

न्यायमूर्तिसौरभश्यामशमशेरीनेयहआदेशआरोपीसुनीलकीजमानतअर्जीकोखारिजकरतेहुएदियाहै।तीनवर्षीयपीड़ितबच्चीनेशब्दोंऔरसंकेतोंमेंआपबीतीसुनाईऔरदरिंदगीकीपूरीघटनाकोबयांकियाहै।मेडिकलरिपोर्टसेभीदुष्कर्मकीपुष्टिहुईहै।जिसनेमासूमकेसाथऐसाजघन्यअपराधकियाहै,वहजमानतपानेकाहकदारनहींहै।इससेपहलेविशेषन्यायाधीशपॉक्सो,अपरसत्रन्यायाधीशकन्नौजद्वाराजून2021मेंआरोपितशख्सकीजमानतअर्जीखारिजकरदीगईथी।

दलीलदीकिवेतनभुगतानकेविवादपरझूठेकेसमेंफंसायागया

आरोपितशख्सकाकहनाथाकिउसेझूठाफंसायागयाहै,क्योंकिवहपीड़िताकेपिताकेघरमेंबढ़ईगीरीकाकामकरताथाऔरवेतनकेभुगतानपरविवादहुआथा।हालांकि,अदालतनेउसेजमानतदेनाउचितनहींसमझा।

महिलाकर्मचारीनेराज्यमहिलाआयोगसेकीलैंगिकउत्पीड़नकीशिकायत

प्रयागराज:बंदोबस्तअधिकारीचकबंदीकार्यालयमेंतैनातमहिलाकर्मचारीनेकार्यस्थलपरलैंगिकउत्पीड़नकीशिकायतराज्यमहिलाआयोगसेकी।आरोपहैकिकनिष्ठलिपिकपरतैनातमहिलाकर्मचारीकेप्रतापगढ़सेस्थानांतरणहोकरप्रयागराजआनेकेबादसेउसकालैंगिकउत्पीड़नकियाजारहाहै।स्थानीयस्तरपरशिकायतकेबादभीकोईकार्रवाईनहींहोरहीहै।घटनाक्रमऔरअधिकारियोंद्वाराभीकार्रवाईनकरनेपरअबपीड़ितानेराज्यमहिलाआयोगकोचारपन्नोंकाशिकायतीपत्रभेजतेहुएकार्रवाईकीमांगकीहै।