अखिलेश सरकार के समय बने आरक्षण नियम ही लागू होंगे, कोर्ट में योगी सरकार ने माना आरक्षण लागू करने में गलती हुई

उत्तरप्रदेशमेंआगामीत्रिस्तरीयपंचायतचुनावमेंसीटोंकेआरक्षणव्यवस्थाकोलेकरइलाहाबादहाईकोर्टनेसोमवारकोबड़ाफैसलादिया।हाईकोर्टनेकहाकिसाल2015कोबेसमानकरआरक्षणलागूहो।यानी,अबसूबेमेंचुनावकाआधारवहीनियमबनेंगे,जोअखिलेशयादवकीसरकारनेबनाएथे।योगीआदित्यनाथकीसरकारनेइनमेंबदलावकरदियाथा।इसबदलावकेखिलाफहाईकोर्टमेंयाचिकालगीथी,जिसपरअदालतनेयहआदेशदियाहै।

कोर्टमेंसुनवाईकेदौरानराज्यसरकारकीतरफसेसॉलिसिटरजनरलराघवेंद्रसिंहनेमानाकिसरकारसेआरक्षणप्रक्रियालागूकरनेमेंगलतीहुईहै।यहतथ्यसामनेआनेकेबादअदालतनेपंचायतचुनावको25मईतकपूराकरनेकेआदेशदिएहैं।इसकेसाथहीचुनावआयोगको27मार्चतकसंशोधितआरक्षणसूचीजारीकरनेकानिर्देशभीदियाहै।प्रदेशसरकारइससेपहले17मार्चकोहीआरक्षणकीसंशोधितसूचितजारीकरनेकीतैयारीमेंथी।इससेपहलेइलाहाबादकीएकडिवीजनबेंचनेत्रिस्तरीयपंचायतचुनावको15मईतकपूराकरनेकेनिर्देशदिएथे।

अजयकुमारकीजनहितयाचिकापरकोर्टकाफैसला

यहनिर्देशन्यायमूर्तिऋतुराजअवस्थीऔरन्यायमूर्तिमनीषमाथुरकीखंडपीठनेअजयकुमारकीओरसेदाखिलएकजनहितयाचिकापरपारितकियाथा।इसयाचिकामें1995को20सालमानकरआरक्षणतयकरनेकोचुनौतीदीगईथी।अजयकुमारकीजनहितयाचिकाहाईकोर्टमेंदायरकीथी,जिसपरसुनवाईकरतेहुएन्यायमूर्तिऋतुराजअवस्थीऔरन्यायमूर्तिमनीषमाथुरकीखंडपीठनेआरक्षणकीफाइनलसूचीजारीकरनेपररोकलगादीथीऔरआरक्षणकीप्रक्रियापरसरकारऔरराज्यचुनावआयोगसेजवाबमांगाथा।

याचिकामेंआरक्षणप्रकियाकीगलतियांबताईगईथीं

आरक्षणकोलेकरदायरकीगईयाचिकामें11फरवरी2021केUPशासनादेशकोचुनौतीदीगई।याचिकामेंकहागयाहैकिपंचायतचुनावमेंआरक्षणलागूकिएजानेसंबंधीनियमावलीकेनियम4केतहतजिलापंचायत,क्षेत्रपंचायतऔरग्रामपंचायतकीसीटोंपरआरक्षणलागूकियाजाताहै।इसकेसाथहीकहागयाकिआरक्षणलागूकेसंबंधमें1995कोमूलसालमानतेहुए1995,2000,2005और2010केचुनावसम्पन्नकराएगएथेलेकिन16सितंबर2015कोएकशासनादेशजारीकरतेहुएसाल1995केबजायसाल2015कोमूलसालमानतेहुएआरक्षणलागूकिएजानेकीप्रक्रियाअपनाईगईथी।