अग्नि परीक्षा में पास हुई कलियुग की सीता

-पत्नीकेगर्भवतीहोनेपरपतिनेजतायाथाचरित्रपरशक

संवादसूत्र,सुलतानपुर:त्रेतायुगकेबादअबकलियुगमेंभीएकसीताकोअग्निपरीक्षासेगुजरनापड़ा।डीएनएटेस्टकीरिपोर्टकेआधारपरजिलाकुटुंबन्यायालयनेमहिलाकोइसपरीक्षामेंपासघोषितकियाहै।इसफैसलेनेपूरेसमाजकेलिएएकनईनजीरकायमकीहै।वहींदूसरीतरफअदालतकेफैसलासेसंकीर्णमानसिकतावालेपतिकोशर्मसारहोनापड़ाहै।पतिद्वारामहिलाकेचरित्रहननकेआरोपोंकोखारिजकरतेहुएअदालतनेपीड़िताकोआठहजाररुपयेप्रतिमाहबतौरगुजाराभत्तादेनेकाभीआदेशदियाहै।

दरअसलकादीपुरकोतवालीकेपहाड़पुरनिवासीएकमहिलाकाविवाहआजमगढ़जिलाकेपवईथानाअंतर्गतसहाडीहनिवासीएकव्यक्तिकेसाथफरवरी2015मेंहुआथा।जबविवाहितागर्भवतीहोगईतोपतिकोउसपरसंदेहहुआ।दोनोंकेबीचतनावपैदाहोगया।कुछहीदिनोंमेंवहमायकेचलीगई।महिलानेवहांएकपुत्रकोजन्मदिया।मायकेवालोंकीलाखकोशिशोंकेबावजूदससुरालीजनोंनेमां-बेटेकोअपनानेसेइन्कारकरदिया।मामलापारिवारिकन्यायालयमेंपहुंचा।पतिनेपत्नीकेआचरणपरसवालउठायातोअदालतनेदुधमुंहेबच्चेकाडीएनएटेस्टकरानेकानिर्णयलिया।हैदराबादस्थितलैबसेजबरिपोर्टआईतोबच्चेकेअंदरपिताअंश99.9फीसदपायागया।जिसपरअदालतनेमां-बेटेकेभरणपोषणकेलिएपिताकोजिम्मेदारठहराया।साथहीपांचहजाररुपयेप्रतिमाहपीड़ितमहिलाकोऔरबच्चेकेबालिगहोनेतकतीनहजाररुपयेप्रतिमाहगुजाराभत्तादेनेकाआदेशदिया।