अब हरियाणा लोकसेवा आयोग के चेयरमैन के लिए होगी लाबिंग, वर्तमान प्रधान कल होंगे रिटायर

चंडीगढ़,जेएनएन।हरियाणालोकसेवाआयोग(एचपीएससी)केचेयरमैनरंजीतकुमारपचनंदाकाकार्यकालबृहस्पतिवारकोपूराहोरहाहै।पश्चिमबंगालकैडरके1983बैचकेरिटायर्डआइपीएसअधिकारीपचनंदाआयोगकेचेयरमैनपदपरमात्रसवासालरहपाएहैं।इसपदपरकार्यकरनेकेलिएउनकीआयुपूरीहोचुकीहै।अबप्रदेशसरकारकोएचपीएससीकेचेयरमैनपदपरनईनियुक्तिकरनीपड़ेगी।यहसरकारपरनिर्भरकरेगाकिआयोगमेंकार्यवाहकचेयरमैननियुक्तकियाजाएगाअथवासरकारसीधेनियमितचेयरमैनकीनियुक्तिप्रक्रियाकोअंजामदेगी।अबइसपदकेलिएराज्‍यमेंलॉबिंगतेजहोगी।

मौजूदाचेयरमैनआरकेपचनंदाकाकार्यकालकलहोगापूरा,सवासालदीसेवाएं

आरकेपचनंदाको25जुलाई2019कोहरियाणालोकसेवाआयोगकाचेयरमैननियुक्तकियागयाथा।फिलहालआयोगमेंछहसदस्यकार्यरतहैं।नईनियुक्तिहोनेतकइनमेंसेकिसीएकसदस्यकोकार्यवाहकचेयरेमैनबनानेकीसंभावनासेभीइन्कारनहींकियाजासकता।आयोगमेंदोसदस्योंकेपदसातमाहसेखालीपड़ेहैं।सरकारनेअभीतकइनदोनोंपदोंकोनहींभराहै।अबसरकारचेयरमैनकेसाथ-साथदोसदस्योंकेपदोंकोभरनेकीप्रक्रियाभीशुरूकरसकतीहै।

आयोगमेंसदस्योंकेदोपदसातमाहसेखाली,अफसरशाहीऔरनेताहुएसक्रिय

हरियाणासरकारद्वाराअबविद्युतविनियामकआयोग,सेवाकाअधिकारआयोगतथाहरियाणालोकसेवाआयोगकेचेयरमैनपदोंपरनियुक्तिकीजानीहै।हरियाणाविद्युतविनियामकआयोगकेचेयरमैनपदपरएकसालतककामकरचुकेपूर्वमुख्यसचिवडीएसढेसीकोसरकारमुख्यमंत्रीकाचीफप्रिंसिपलसेक्रेटरीनियुक्तकरचुकीहै,जबकिसेवाकाअधिकारआयोगकेचेयरमैनअथवाचेयरपर्सनकेलिएनिवर्तमानमुख्यसचिवकेशनीआनंदअरोड़ासमेतआधादर्जनरिटायर्डआइएएसवआइपीएसअधिकारीअपनीदावेदारीजतारहेहैं।

विद्युतविनियामकआयोगतथासेवाकाअधिकारआयोगमेंभीबननेहैंचेयरमैन

पंजाबएवंहरियाणाहाईकोर्टकेएडवोकेटहेमंतकुमारकेअनुसारराज्यलोकसेवाआयोगमेंचेयरमैनऔरसदस्योंकाकार्यकालनियुक्तिकेछहवर्षोंतकयाउनकीआयुके62वर्षपूरेहोनेतक(जोभीपहलेहो)होताहै।वर्ष1976सेपहलेयहआयुसीमा60वर्षतकहोतीथी।पचनंदाकोचेयरमैननियुक्तहुएअभीसवावर्षहीहुआहै।उनकीजन्मतिथि23अक्टूबर1958है।इसलिएइसवर्ष22अक्टूबरको62वर्षकीआयुपूरीहोनेपरपचनंदासेवानिवृतहोजाएंगे।अगरआयोगकाकोईसदस्यनियमितचेयरमैननियुक्तहोताहैतोउसेशपथलेनेसेपूर्वसदस्यकेतौरपरत्यागपत्रदेनाहोताहै,परंतुजुलाई2013मेंमनबीरभड़ानानेऐसानहींकियाथा।

एचपीएससीकेकुलआठसदस्योंमेंसेदोसदस्योंकेपदसातमाहसेखालीहैं।पिछलीहुड्डासरकारद्वाराएकमार्च2014कोनीलमसिंहऔरराजेशवैदकोआयोगकासदस्यलगायागयाथा,जिनकाछहसालकाकार्यकालइसवर्षमार्च2020मेंपूराहोगया।इनकेस्थानोंकोअभीगठबंधनकीसरकारनेनहींभराहै।वर्ष2008मेंआयोगमेंसदस्योंकीसंख्याआठसेबढ़कर12करदीगईथी,परंतुवर्ष2012मेंदोबारासंशोधनकरइससंख्याकोआधायानीछहकरदियागयाथा।जून2015मेंभाजपासरकारनेफिरसेआयोगमेंसदस्योंकीसंख्याबढ़ाकरआठकरदीहै।