आपातकक्ष में तैनाती लेकिन आवास पर मिलते हैं चिकित्सक

संवादसहयोगी,गढ़मुक्तेश्वर:सरकारकीओरसेलाखसुविधाएं,सख्तीहोनेकेबादभीडॉक्टरवअस्पतालकर्मीलापरवाहीकमनहींकररहेहैं।इसकीबानगीलखनऊमेंएपलकंपनीकेएरियामैनेजरकीमौतकेमामलेमेंदिखीथी।स्वास्थ्यविभागकीलापरवाहीउजागरहोनेकेबादभीविभागमेंकार्यरतचिकित्सकोंकीकार्यशैलीमेंसुधारनहींहै।

रविवाररात¨सभावलीकेप्राथमिकस्वास्थ्यमेंलापरवाहीउजागरहोनेकेबाददैनिकजागरणकीटीमनेसोमवाररातगढ़केसामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्रकीव्यवस्थाकाजायजालिया।इसअस्पतालमेंव्यवस्थाएंतोठीकमिलीं,लेकिनअस्पतालमेंआनेवालेरोगियोंकेचिकित्साकिएजानेकेप्रतिगंभीरनहींदिखे।अस्पतालमेंगर्भवतीकाप्रसवकरानेकेलिएकोईमहिलाचिकित्सकनहींहै।यहांप्रसवकरानेकीजिम्मेदारीएकस्टाफनर्सकेकंधोंपरडालदीगईहै।प्रस्तुतहैंदैनिकजागरणकीरिपोर्टकेप्रमुखअंश..सीन-1

सोमवाररात10बजकर10मिनटपरजागरणटीमअस्पतालपहुंचीतोआपातकालकेमुख्यद्वारपरचारपाईपड़ीथी।उसपरअस्पतालमेंतैनातसफाईकर्मचारीमहेंद्रआरामकररहेथे।टीमकाकैमरादेखकरकर्मचारियोंमेंहड़कंपमचगया।अस्पतालकेएककमरेमेंबैठेतीनकर्मचारीबैठेगप्पेलड़ारहेथे।

रात11बजेआपातकक्षमेंबैठनेवालेचिकित्सककीकुर्सीखालीथी।उसकक्षमेंअस्पतालमेंतैनातएकअन्यसफाईकर्मचारीआरामकररहाथा।पूछनेपरउसनेबतायाकिउसकीतबीयतखराबहै।इसलिएकुछसमयकेलिएआरामकररहाहै।

रात11.30बजेअचानकचीफफार्मासिस्टदिखाईहुए।पूछनेपरउन्होंनेअपनानामजितेंद्रमलिकबताया।उन्होंनेबतायाकिरातमेंउनकीड्यूटीहै।कोईनयारोगीनहींआनेकेकारणखानाखाकरअस्पतालपरिसरमेंटहलरहेथे।उन्होंनेकहाकिवहअपनीड्यूटीगंभीरतासेनिभातेहैं।

रात12बजेजागरणटीमअस्पतालकेमहिलावार्डमेंपहुंची।यहांकोईरोगीनहींथा,इसकेबावजूदवार्डकेसभीबल्बजलेहुएथेऔरपंखेभीचलरहेथे।बिजलीकेइसदुरुपयोगकेलिएकौनजिम्मेदारहै,यहकोईनहींबतापाया।हालांकिवार्डमेंसफाईथी।

आपातकक्षमेंडॉक्टरसर्वेंदररॉयकीतैनातीथी।लेकिनवहअपनेकक्षमेंमौजूदनहींथे।उनकअनुपस्थितमिलनेपरफार्मासिस्टजितेंद्रमलिकनेबतायाकिडॉक्टरअस्पतालमेंहीहैं।यदिकोईरोगीअथवाघायलआताहैतोउन्हेंसूचनादेदीजातीहै।वहसूचनामिलतेहीआजातेहैं।यहांआनेवालेकिसीरोगीकेइलाजमेंलापरवाहीनहींबरतीजातीहै।

रात12.30बजेअस्पतालमेंएकमहिलाप्रसवकरानेकेलिएभर्तीहुई।उसकेसाथआईमहिलाओंनेप्रसूताकानामसंगीताबताया।महिलाडॉक्टरकेबारेमेंजानकारीकीगईतोपताचलाकिअस्पतालमेंमहिलाडॉक्टरकीतैनातीहीनहींहै।स्टाफनर्सहीप्रसवकरारहीथी।--क्याकहतेहैंसीएचसीप्रभारी

अस्पतालकेआपातकक्षमेंकामचलरहाहै,जिसकारणडॉक्टरकोलगातारबैठनेमेंदिक्कतआरहीहै।जल्दहीइसमेंसुधारकियाजाएगा।महिलाडॉक्टरदिनमेंबैठतीहैं।रातमेंपर्याप्तस्टाफनर्सकीतैनातीरहतीहै।सफाईपरविशेषध्यानरखाजाताहै।डॉक्टरोंऔरकर्मचारियोंद्वारालापरवाहीनहींबरतीजातीहै।

--डॉ.दिनेशभारती,प्रभारी,सामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्र