4 साल की बच्ची से दरिंदगीः दरिंदे अब भी फरार, सदमे में दिल्ली

उसकेआंसूरुकनहींरहे.वहसफदरजंगअस्पतालमेंफर्शपरबैठीसिसकरहीहै.उसेअपनीसाड़ीकीभीसुधनहींहै.महिलाकाउंसरआतीहैंऔरउसेउठाकरलेजानेकीकोशिशकरतीहैं.लेकिनवहबुतबनीबैठीहै.वहमांहै,चारसालकीउसबच्चीकीजोशुक्रवारशामहैवानियतकीशिकारहुई.दिल्लीकेकेशवपुरमइलाकेमें.

बच्चीकीसांसेंजैसे-तैसेचलरहीहैं.हरपलमौतसेलड़तेहुए.उसकीआवाजभीतरहीकहींदबीजारहीहै.औरअस्पतालकेबाहरदिल्लीसन्नहै.अस्पतालसेनिकलभीजाए,लेकिनउनदोहैवानोंनेजोदरिंदगीकी,उससेबच्चीअगलेकुछमहीनेउठभीनहींसकेगी.पुलिसनेगैंगरेपकाकेसदर्जकरलियाहै.तीनदिनबीतचुकेहैं,लेकिनदोनोंआरोपीअबभीफरारहैं.

तबकोईविकल्पनहींथाऔरअबरास्तानहींहै

बच्चीकेदादाबतातेहैंकि10सालपहलेयूपीकेउरईसेदिल्लीआएथे.कामकीतलाशमें.मैंमजदूरीकरताहूं.बेटापेंटिंगकरताहैऔरबहूघरसंभालतीहै.तबहमेंलॉरेंसरोडपरझुग्गियोंमेंआसरामिला.हमवहींटिकगए.मुझेलगाथाकिमाहौलठीकनहींहै.लेकिनतबदूसराकोईविकल्पनहींथा.उसकीकीमतहमआजचुकारहेहैं.

3दिनहीतोबीतेहैंउसभयावहशामको

बच्चीकेपिताकहतेहैंकिपिताजीशामकरीब5बजेकामसेलौटे.बिटियाघरमेंखेलरहीथी.उन्हेंकामसेबाहरजानाथातोबिटियाभीपड़ोसकेबच्चोंकेसाथखेलनेनिकलगई.जानेकबवोबच्चियांखेलते-खेलतेफाटकक्रॉसकरगईं.वहांहमेशाकुछलोगशराबपीकरताशखेलतेरहतेहैं.उनबच्चियोंनेहमेंबतायाकिदोआदमियोंनेउसेटॉफीऔरबिस्किटदिएऔरउठाकरलेगया.

दोघंटेबादखूनमेंलथपथमिलीबच्ची

बच्चीकेपिताकहतेहैं,दोघंटेहोगए.हमनेकहां-कहांनहींढूंढ़ाबेटीको.लेकिनकुछखबरनहींलगी.फिरएकमहिलाउसेखूनमेंलथपथलेकरपहुंची.उसमहिलाकोवहरेलवेलाइनकेपासजंगलमेंमिलीथी.बुरीतरहजख्मी.

पूरेशरीरपरथेगहरेजख्म

बच्चीकोतुरंतभगवानमहावीरहॉस्पिटलसेलेकरगए.डॉक्टरोंनेबतायाकिउसकेगले,पेटऔरचेहरेपरगहरेजख्मथे.शरीरकाएकहिस्साइतनाबुरीतरहघायलथाकिउसेप्राथमिकउपचारकेबादसफदरजंगहॉस्पिटलरेफरकरनाजरूरीथा.तबसेबच्चीयहींहै.औरउसकीमांभीवैसेहीफर्शपरबैठीसिसकरहीहै.अपनीबिटियाकेलिएजिंदगीकीदुआमें.

हिम्मतहैकिरह-रहकरटूटजातीहै

दिल्लीमहिलाआयोगकीअध्यक्षस्वातिमालीवालसफदरजंगगईं.मांसेमिलीं.ट्वीटभीकरदियाकि'दिल्लीमेंहरदिनएकनिर्भयाहोजातीहै.फंडबेकारजारहाहै.2014मेंसिर्फ9आरोपीदोषीसाबितहुए.तभीतोदिल्लीमेंकिसीकोडरनहींलगता.'दिल्लीपुलिसकमिश्नरबीएसबस्सीनेभीएकबारफिरमहिलाओंकीसुरक्षाकीजरूरतपरजोरदिया.एककार्यक्रमहुआ.हिम्मतनामकीशॉर्टफिल्मभीदिखाईगई.लेकिनउसमांकीहिम्मतहैकिरह-रहकरटूटतीऔरबंधतीहै.