1400 रु. के लिए अधेड़ महिला को 5 महीने में 10 बार बताया प्रेग्नेंट

देशमेंअबतकअमूमनहरयोजनाऔरहरतरहकेकार्यालयसेछोटे-बड़ेघोटालेकीखबरआचुकीहै.लेकिनघोटालोंकीलंबीहोतीफेहरिस्तमेंनयाकमालउत्तरप्रदेशनेकियाहै.यहांचंदसिक्कोंकीखनककेलिए'मांकीकोख'काहीघोटालाहोगया.जननीसुरक्षायोजनाकालाभपानेकेलिएयहांकागजोंपरअधि‍कारियोंनेएकहीमहिलाकोचारमहीनेमेंतीनबार'गर्भवती'बनादियाहै.

एकताजाऑडिटइसबाबतकईखुलासेहुएहैं.जननीसुरक्षायोजनाकेतहतमांबननेपरमहिलाकोसरकारकीतरफसेअच्छाऔरपौष्टिकभोजनकरनेकेलिएकुछराशिदीजातीहै.लेकिनइसदेशमेंअधिकारियोंऔरकर्मचारियोंकेपेटकोपौष्ट‍िकआहारमिलेशायदयहज्यादाजरूरीहोजाताहै.ऑडिटकेबादजोजानकारीनिकलकरआईहै,उसमेंगड़बड़झालेकाआलमयहहैकियहांएकऐसीमहिलाकोयोजनाकेतहत1400रुपयेकाभुगतानकरदिया,जोबीते12वर्षोंसेमांनहींबनीहै.

मातृत्वकामजाक

डिजिटलइंडियाकेसपनेऔरखोखलीहोतीयोजनाओंकीअसलियतकीबानगीयहहैकिस्वास्थ्यविभागबहराइचमेंएक60सालकीमहिलाकोपांचमहीनेमें10बारगर्भवतीकरारदेताहै.हालांकिमामलेमेंअबजांचशुरूहोगईहैऔरयहढूंढ़ाजारहाहैकियोजनाकोलागूकरनेकेलिएपहलीजिम्मेदारीकिसकीबनतीहै.

जांचसेजुड़ेअधि‍कारीबतातेहैंकियूपीमेंइसओरबहुतबड़ेस्तरपरघोटालाहुआहै.शुरुआतीजांचमेंप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रकेकर्मचारीसंदेहकीजदमेंहैं.यहीकर्मचारीगांवमेंमांबननेवालीऔरतोंकोयोजनाकेतहत1400रुपयेकाभुगतानकरतेहैं.समझाजारहाहैकिकागजोंपरलंबीफेहरिस्ततैयारकरकर्मचारीइनमेंदर्जऔरतोंकोथोड़ीराशि‍देकरबाकीखुदगटकजातेहैं.

पांचकर्मचारीनिलंबित

जानकारीमेंमुताबिक,अकेलेबहराइचजिलकेबाउंदीस्वस्थ्यकेंद्रमेंऐसे200मामलोंकाखुलासाहुआहै.मामलेमेंजिलाधि‍कारीनेतत्कालकार्रवाईकरतेहुएपांचकर्मचारियोंकोनिलंबितकरदियागयाहैऔरजांचकेआदेशदिएगएहैं.

गौरतलबतहैकिजननीसुरक्षायोजना2005मेंशुरूकीगई.राज्यकेस्वास्थ्यविभागकेएडि‍शनलडायरेक्टरडॉ.सुबोधशर्मानेकहा,'मैंनेरिकॉर्ड्सकीजांचकीहैऔरबैंककेरिपोर्टकाइंतजारहै.रिपोर्टमिलनेकेबाददोषि‍योंकेखि‍लाफकार्रवाईकीजाएगी.'