10 दिन से अंधेरे में गांव कशीड़

संवादसहयोगी,बसोहली:तहसीलबसोहलीकेदूरदराजकेगांवकशीड़मेंपिछलेदिनोंहुईबारिशकेदौरानबंदहुईबिजलीआजतकबहालनहींहोपाईहै।इससेलोगोंकोपरेशानियोंकासामनाकरनापड़रहाहै।कशीड़मेंदसदिनोंसेअंधेरापसराहुआहै।ग्रामीणोंनेआरोपलगायाकिबिजलीविभागकेअधिकारीबिजलीआपूर्तिसुचारुकरनेकेप्रतिगंभीरनहींहै।विभागीयलापरवाहीकेकारणबच्चोंकीपढ़ाईभीप्रभावितहोरहीहै।गांवकेलोगोंकोअपनामोबाइलफोनचार्जकरनेकेलिएमाशकायाआसपासकेकिसीगांवमेंजानापड़रहाहै।वहीं,बिजलीविभागकेएईईसुनीलकुमारनेकहाकिबिजलीआपूर्तिसुचारुकरनेकेलिएविभागीयकर्मचारीजुटहुएहैं।

पिछलेदिनोंहुईबारिशकेदौरानगांवकशीड़कीबिजलीव्यवस्थाचरमराकररहगईहै,लेकिनआजतकबिजलीआपूर्तिबहालकरनेकेलिएकोईविभागीयअधिकारीनहींआया।बिजलीलाइनमेंआनेवालीतकनीकीखामियोंकोठीककरनेकेलिएकोईभीकर्मचारीनियुक्तनहींहै।विभागकोकशीड़मेंबिजलीआपूर्तिबहालकरनेकेलिएकदमउठनाचाहिए।

दसदिनसेलगातारबिजलीबंदरहनेसेक्षेत्रकेलोगकाफीपरेशानहैं।बिजलीआपूर्तिठपहोनेसेबिजलीसेचलनेवालेसभीउपकरणशोपीसबनेहुएहैं।अभीदोदिनपहलेगुजरातऔरहिमाचलमेंहुएचुनावोंकेनतीजोंकोदेखनेकेलिएलोगोंकोदूसरेगांवमेंजानापड़ाथा।

ऐसापहलीबारनहींहुआहैकिगांवकीबिजलीबंदहुईहो,लेकिनइतनेदिनबिजलीबंदपहलीबारहीहुईहै।इससेलोगोंकीदिनचर्याखराबहोगईहै।आसपासकेगांवोंमेंजबरातकोबिजलीचमकतीहैतोअपनागांवअंधेरेमेंडूबाहुआहोताहै।

रातहोनेसेपहलेहीलोगअपनेघरोंमेंदुबकजातेहैं।बच्चेतोबच्चेबडे़भीछहबजेकेबादघरसेबाहरनहींजापारहेहैं।विभागकेउच्चअधिकारियोंकोगांवमेंठपपड़ीबिजलीआपूर्तिकोजल्दसुचारुकरवानाचाहिए।